मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना ऑनलाइन अप्लाई: (કિસાન સહાય) registration status

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना ऑनलाइन अप्लाई | मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય) ऑनलाइन आवेदन, registration status पूर्ण जानकारी | मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना

१० अगस्त २०२० को मुख्यमंत्री विजय रुपाणी जी ने मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना की शुरुआत कि ताकि किसानों को इस योजना का लाभ मिल सके। प्रकृति मैं आने वाली आपदाओं जैसे भूकंप तूफान बेमौसम बारिश से फसलों को बहुत नुकसान होता है और किसानों को तकलीफों का सामना करना पड़ता है,

इसलिए सरकार ने मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना को लॉन्च किया है। अभी इस स्कीम का पोर्टल बना नहीं है क्योंकि यह हाल ही में खुली है लेकिन जल्द ही खुल जाएगा और लोग आवेदन कर सकेंगे। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको विजय रुपाणी जी द्वारा लागू की गई मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे।


इस लाभ को पाने के लिए सरकार ने 2 तरीके रखे हैं:


पहला जिसमें किसानों को प्राकृतिक आपदाओं द्वारा 30 से 60% तक की हानि हुई है और दूसरा जिसमें 60% और 60% से ज्यादा की हानि का सामना किसानों को करना पड़ा है।

30 से 60% तक की हानि में एक किसान को अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए प्रति हेक्टेयर 20,000 रुपये का मुआवज़ा सरकार द्वारा दिया जाएगा और वहीं दूसरी ओर अगर 60% के ऊपर होने वाली हानि में एक किसान को ज्यादा से ज्यादा चार हेक्टेयर के लिए प्रति हेक्टेयर 20,000 रुपये का मुआवज़ा विजय रुपाणी जी की सरकार द्वारा दिया जाएगा।

यह एक ऐसी फसल बीमा योजना है जिसके तहत किसानों को लाभ पहुंचाने और उनका सशक्तिकरण करने को मुख्य उद्देश्य माना गया है। आपने देखा होगा कि ज्यादातर खरीद के मौसम में फसलें खराब हो जाती हैं क्योंकि वर्षा अधिक होने से फसल खराब हो जाती है और जिन किसानों ने ऋण लिया होता है। उनके लिए या एक बहुत बड़ी समस्या बनकर सामने आती है जिस वजह से सरकार ने तय किया है कि किसानों को लाभ पहुंचाया जाए और इस समस्या से उन्हें निदान दिया जाए।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के उद्देश्य निम्नलिखित है:-

  • पहला और सबसे अहम उद्देश्य है कि किसानों का सशक्तिकरण करना।
  • दूसरा उद्देश्य इस योजना को लागू करने का यह है कि किसानों को जो भी नुकसान प्राकृतिक आपदा,
  • जैसे भूकंप तूफान बारिश बाढ़ इत्यादि आने से हुआ है इसका नुकसान किसानों को न भुगतना पड़े।
  • इस कारण सरकार ने किसानों को मुआवजा देने और आर्थिक सपोर्ट (इकोनोमिक सपोर्ट)देने का निर्णय लिया है।
  • मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना माध्यम से हम किसानों को और देश को सशक्त बना सकते हैं।

pmkisan.gov.in

  • गुजरात मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के माध्यम से दी जाने वाली सहायता इस प्रकार से हैं आप नीचे देख सकते हैं:-
  • १) इस योजना का लाभ उन किसानों को पहुंचाया जाएगा
  • जिनको ऋण चुकाने में तकलीफ है और प्राकृतिक आपदा के कारण उनकी फसलें खराब हुई।
  • २)इस योजना के जरिए 33 % से 60 % तक प्राकर्तिक आपदाओं
  • जैसे भूकंप बाढ़ बारिश तूफान इत्यादि के कारण हुए नुकसान में
  • गुजरात राज्य सरकार द्वारा एक किसान को ज्यादा से ज्यादा चार हेक्टेयर के लिए प्रति हेक्टेयर 20,000 रुपये का मुआवज़ा प्रदान किया जायेगा।
  • और जिनको 60% से ज्यादा का नुकसान हुआ है उनको ₹25000 का मुआवजा दिया जाएगा।
  • ३) मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना खासकर उस वक्त के लिए लाभप्रद साबित होगी
  • जब खरीद के मौसम के कारण किसानों की फसलें खराब हो जाती है।
  • ५) और सबसे अहम बात गुजरात सरकार की इस योजना के कारण किसानों को किसी भी प्रकार का प्रीमियम का भुगतान देने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना के आवेदन के लिए प्रमुख दस्तावेज जिनकी जरूरत होगी निम्नलिखित है:-

  • १)आवेदक का गुजरात का निवासी होना सबसे अहम है
  • अगर वह गुजरात का निवासी नहीं होगा तो वह मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना का लाभ नहीं उठा सकता।
  • २)आधार कार्ड और पहचान पत्र।
  • ३)आवेदक के पास निवास प्रमाण पत्र का होना जरूरी है अन्यथा वह अप्लाई नहीं कर सकता।
  • ४)अपने pass passport size photo जरुर रखें ताकि आपको आवेदन भरने में तकलीफ ना हो।
  • फॉर्म भरने के लिए यह दस्तावेज सबसे जरूरी है।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के आवेदन करने के लिए आपको निम्न चरणों का पालन करना होगा:-

  • इस मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना के हाल ही में शुरू होने के कारण अभी आवेदन भरने का पोर्टल नहीं बना है
  • इसलिए इच्छुक आवेदकों को थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा।
  • वह तभी इस फॉर्म को भर सकते हैं जब यह पोर्टल जारी किया जाएगा।
  • मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना का आवेदन ऑनलाइन होगा जो कि ई- ग्राम केंद्र करेंगे।
  • जैसे ही इसकी वेबसाइट शुरू होगी या इसका पोर्टल जारी किया जाएगा
  • तब इसका इच्छुक लाभार्थी किसान लाभ उठा सकते हैं
  • और सरकार द्वारा लागू की गई स्कीम का सही उपयोग कर सकते हैं।

लाभार्थी किसानों की सूची मुख्यमंत्री किसान सहाय योजन के अंतर्गत आप देख सकते हैं निम्नलिखित प्रकार से तय की जाएगी:-

सबसे पहले और प्रमुख बात कि इसकी सूची गुजरात राज्य के राजस्व विभाग द्वारा तैयार की जाएगी।
जिला कलेक्टर —>राजस्व विभाग ——>sarvekshan team—–>लिस्ट तैयार।

  • सूची दो प्रकार से तैयार की जाएगी पहला 33% से 60% तक
  • और दूसरा 60 परसेंट से ऊपर और 60 परसेंट तक।
  • सबसे पहले डीसी (जिला कलेक्टर) द्वारा तालुका / गांवों की सूची तैयार की जाएगी
  • इसके अंतर्गत जिन की फसलें सूखे भारी वर्षा या 11 मार्च में वर्षा के कारण खराब हो गई है उन किसानों को लिया जाएगा.
  • फिर इसके बाद 7 दिनों के भीतर राजस्व विभाग को सूची भेजी जाएगी
  • तब एक स्पेशल सर्वेक्षण टीम 15 -16 दिनों के अंदर फसलों के नुकसान की समीक्षा तैयार करेगी।
  • क्षति सर्वेक्षण पूरा होने के बाद ,जिला विकास अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर किए हुए आदेश के माध्यम से लाभार्थी किसानों की सूची की घोषणा की जाएगी।
  • और फिर किसानों को मुआवजा दिया जाएगा और सरकार उनकी मदद अवश्य करेगी।

YSR Cheyutha Scheme

Leave a Comment