आजीविका संवर्धन हुनर योजना 2020: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म, Full Information

आजीविका संवर्धन हुनर योजना | Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan Online | झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान ऑनलाइन आवेदन | आजीविका संवर्धन हुनर अभियान एप्लीकेशन फॉर्म | ASHA Yojana In Hindi |

आजीविका संवर्धन हुनर योजना 2020 महिलाओं के हित में झारखंड की सरकार द्वारा शुरू की गई है। झारखंड की महिलाएं सशक्त और प्रोत्साहित हो सके इस वजह से झारखंड की राज्य सरकार ने झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान योजना को जारी किया है। इस योजना के तहत झारखंड की महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका,पशुपालन वनोपज संग्रहण और उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर सरकार की ओर से प्राप्त होंगे।जो कि महिलाओं के लिए बहुत ही लाभकारी साबित होगा और उन्हें सशक्त करने के लिए मददगार भी।

दोस्तो आज हम आपको इस लेख के माध्यम से आजीविका संवर्धन हुनर योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण विवरण साझा करेंगे। हम आपको बताएंगे कि झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान क्या है? इसका उद्देश्य क्या है?, इस योजना का लाभ क्या है? , इस योजना के लिए सरकार ने किन किन पात्रता मानदंडों को निर्धारित किया है?,इसके साथ ही हम आपको चरण दर चरण आवेदन प्रक्रिया भी साझा करेंगे ताकि आपको आवेदन में आसानी हो आदि।

दोस्तो यदि आप आजीविका संवर्धन हुनर योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़ना होगा। कृपया पाठकों हम आपसे निवेदन करते हैं कि हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़िए हमने आपको संपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल में आजीविका संवर्धन हमारा अभियान से संबंधित उपलब्ध करवाई है।

आजीविका संवर्धन हुनर योजना

Key Highlights Of Aajivika  Samvardhan Hunar Abhiyan

योजना का नामझारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान
किस ने लांच कीझारखंड सरकार
लाभार्थीझारखंड की महिलाएं
उद्देश्यमहिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी।
साल2020

आजीविका संवर्धन हुनर योजना: an overview

बुनियादी जानकारी

निम्नलिखित दी गई जानकारी झारखंड आशा योजना पर प्रकाश डालती है। कृपया इसे ध्यानपूर्वक पढ़ें:-

  • दोस्तो इस झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना झारखंड की महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए झारखंड सरकार द्वारा जारी किया गया है।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य की महिलाओं को सशक्त करना और उन्हें मार्गदर्शन देकर प्रोत्साहन देना है।
  • दोस्तो इस आशा अभियान के माध्यम से झारखंड की महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण, उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर सरकार की ओर से उपलब्ध करवाए जाएंगे।
  • इस योजना की घोषणा राज्य सरकार ने कि।
  • इसके साथ ही 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को जो कि झारखंड से आती हैं उन्हें इस झारखंड आजीविका संवर्धन होना अभियान के अंतर्गत लाभ पहुंचाया जाएगा।
  • झारखंड आजीविका संवर्धन होनर अभियान से संबंधित और जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे आर्टिकल में अंत तक बने रहिए।

आजीविका संवर्धन हुनर योजना : उद्देश्य

OBJECTIVES

  • घर का चलाने के लिए झारखंड में कई ऐसी महिलाएं थी जो मजबूरन शराब भेजती थी।
  • यह आजीविका योजना खासतौर से हड़िया दारु बेचने वाली महिलाओं के लिए ही सरकार द्वारा शुरू की जा रही है।
  • झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी ने कहा कि राज्य की महिलाएं यह काम घर घर चलाने के लिए मजबूरी में कर रही हैं जिनके लिए कोई समाधान निकालना बेहद जरूरी है।
  • अब राज्य की कोई भी महिला सड़क पर हरिया दारू बेचती हुई नजर नहीं आएंगी।
  • ऐसा इसलिए क्योंकि सरकार ने इस योजना के अंतर्गत हरिया दारू बेचने वाली महिलाओं को जोड़ा है ताकि उन्हें इससे लाभ हो और उनका घर खर्च चल पाए।
  • और भी कोई अन्य मार्ग पर ना जाएं।
  • दोस्तो इस आजीविका samvardhan हुनर abhiyan योजना के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को रोजगार तथा स्व रोजगार के अवसर प्रदान राज्य सरकार की ओर से उपलब्ध होंगे।

पलाश ब्रांड का भूमंडलीकरण

  • यह प्राण सरकार का एक ब्रांड है जिसको झारखंड कि राज्य सरकार दुनिया में पहचान उपलब्ध कराना चाहती है यानी पलाश फ्रेंड का भूमंडलीकरण सरकार करना चाहती है।
  • ब्रांड का भूमंडलीकरण करने के लिए झारखंड कि सरकार ने राज्य की महिलाओं को प्रोत्साहन देना चाहती है।
  • साथ ही घोषणा करते वक्त मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने यह भी बताया है कि टाटा और अमूल की तरह इसकी सीमाएं भी महिलाएं आगे तक लेकर जाएंगे।
  • झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी ने लिज्जत पापड़ तथा अमूल के बारे में भी जिक्र किया जिस का उत्पादन महिला स्वयं सहायता समूह के द्वारा किया जाता है।
  • सरकार पलाश ब्रांड को भी महिला एवं सहायता समूह द्वारा उत्पादन किए गए उत्पाद से आगे ले जाना चाहती है।
  • इस ब्रांड के माध्यम से राज्य की महिलाओं का सशक्तिकरण होगा
  • और महिलाएं घर घर चलाने के लिए दारु नहीं बेचेंगी।
  • पलाश ब्रांड के अंतर्गत अभी सिर्फ खाने पीने की उत्पाद ही बनाए जाते हैं।
  • आने वाले वक्त में जूते, चप्पल, साड़ी आदि भी पलाश ब्रांड के अंतर्गत बेचे जाएंगे और इस ब्रांड को आगे बढ़ाया जाएगा।

आजीविका संवर्धन हुनर योजना बजट

बजट

  • 600 करोड़ रूपय का बजट इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को लाभ पहुंचाने के लिए जारी किया गया है।
  • इस बजट के अंतर्गत योजना का महिलाओं को लाभ पहुंचाया जाएगा।
  • और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी ने स्वयं दुमका के मंडलों के बीच 150 करोड़ रुपए का वितरण किया है।
  • दोस्तो इस योजना का संचालन ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा किया जाएगा।
  • और मुख्यमंत्री Hemant Soren जी ने यह भी कहा कि झारखंड सरकार रोजगार देने में पूरी तरह से सक्षम है।
  • इसके साथ ही इस योजना के अंतर्गत प्रतिदिन 650000 लोगों को रोजगार दिया जाता है।
  • ASHA Yojana का मुख्य उद्देश्य हड़िया दारु बेचने वाली महिलाओं को रोजगार तथा स्वरोजगार के अवसर प्रदान करना है।
  • अब झारखंड की महिलाओं को अपना घर चलाने के लिए हड़िया दारु बेचने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
  • दोस्तो इस आजीविका योजना की वजह से झारखंड की महिलाओं का सशक्तिकरण होगा।
  • तथा इस से उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार आएगा और वे दारु नहीं बेचेंगे।

आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लाभ तथा विशेषताएं

Benefit and speciality

  • आजीविका संवर्धन हुनर योजना झारखंड की उन महिलाओं के लिए आरंभ की गई है जो कि सड़कों पर हरिया दारु अपने घर खर्च के लिए बेचती थी या बेचती है।
  • आजीविका संवर्धन होनर अभियान योजना के माध्यम से हड़िया दारु बेचने वाली महिलाओं को रोजगार तथा स्व रोजगार के अवसर सरकार के द्वारा उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि उनका सशक्तिकरण हो।
  • दोस्तो आपको यह भी बता दे कि इस आजीविका संवर्धन योजना के माध्यम से महिलाओं का सशक्तिकरण होगा।
  • इसके साथ ही झारखंड की महिलाओं को कृष आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण, उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर हरिया दारु बेचने वाली महिलाओं को उपलब्ध होंगे जो कि सरकार उन्हें उपलब्ध कराएगी।
  • और इस लाभकारी योजना के माध्यम से लगभग 17 लाख ग्रामीण परिवारों को जोड़ा जाएगा।
  • मुख्यमंत्री सोरेन जी ने कहा है कि अब झारखंड की महिलाओं का अपने घर का खर्च चलाने के लिए हड़िया दारु बेचने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के माध्यम से झारखंड की महिलाओं को रोजगार तथा स्व रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।
  • 600 करोड़ रुपए का बजट इस आजीविका संवर्धन योजना के अंतर्गत हरिया दारू बेचने वाली महिलाओं के हित में उन को प्रोत्साहन देने के लिए किया गया है।
  • इसके साथ झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना का संचालन ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जाएगा।
  • दोस्तों अब हम आपको इस योजना के पात्रता मानदंडों और आवश्यक और अनिवार्य दस्तावेजों के बारे में बताएं।

ASHA की पात्रता मानदंड

Eligibility criteria

  • दोस्तो इस आजीविका संवर्धन हुनर अभियान योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को झारखंड का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।

आजीविका संवर्धन हुनर योजना: मुख्य दस्तावेज

Important documents requirement

  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का आधार कार्ड
  • आवेदक का राशन कार्ड
  • इच्छुक लाभार्थी आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • हाल ही में खींची गई पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना : आवेदन करने की प्रक्रिया

Application procedure

प्रिय दोस्तो अगर आप झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको कुछ समय प्रतीक्षा करनी होगी क्योंकि जैसा कि आप जानते हैं कि यह योजना हाल ही में जारी की गई है जिस कारण सरकार ने अभी कोई भी इस योजना के आवेदन संबंधित घोषणा नहीं की है। अभी केवल इस योजना की शुरुआत होने और इसके उद्देश्यों की घोषणा की गई है इसके अलावा आवेदन प्रक्रिया से संबंधित कोई जानकारी नहीं आई है।जैसे ही इस योजना के आवेदन से संबंधित कोई जानकारी आएगी तो हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से जल्द से जल्द सूचित कर देंगे।

उपसंहार

दोस्तों आपको इस आर्टिकल के माध्यम से झारखंड आजीविका संवर्धन हमार योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त कराई है।हमने आपको इस योजना के उद्देश्य लाभ बताएं और इसके साथ ही पात्रता मानदंड और अनिवार्य दस्तावेजों की जानकारी भी आपको उपलब्ध कराई। दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि यह योजना हाल ही में जारी की गई है जिस कारण इस योजना के आवेदन संबंधित कोई जानकारी नहीं आई है। जैसे ही इस योजना से जुड़ी नई जानकारी आएगी और आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से अपडेट कर देंगे। कृपया इसी प्रकार हमारे साथ बने रहिए।

और पढ़ें

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना

Leave a Comment